हाई ब्लड प्रेशर में दूध पीना चाहिए? जानिए क्या होता है इसका असर

दूध में मौजूद पोषक तत्वों की वजह से इसका सेवन सेहत के लिए फायदेमंद माना जाता है, लेकिन क्या हाई बीपी के मरीजों को दूध पीना चाहिए?

अक्सर लोग इसे लेकर भ्रम में रहते हैं कि लो बीपी में तो गर्म दूध पी सकते हैं, लेकिन क्या हाई बीपी में भी दूध पीना फायदेमंद होगा?

एक्सपर्ट्स के मुताबिक, हाई ब्लड प्रेशर में दूध पी सकते हैं क्योंकि, दूध में बायोएक्टिव पेप्टाइड्स होते हैं जो हाई बीपी को कम करने में मदद करते हैं.

इसमें कैल्शियम, फॉस्फोरस, पोटैशियम और विटामिन ए, डी और प्रोटीन भी होता है. 

दूध और डेयरी प्रोडक्ट्स में मौजूद पोषक तत्व ब्लड प्रेशर को कम करने में मदद करते हैं. कम फैट वाले दूध और डेयरी उत्पादों को आप डाइट में शामिल कर सकते हैं.

ये आपको नुकसान नहीं पहुंचाएगा. डेयरी उत्पाद से मैग्नीशियम, राइबोफ्लेविन, फोलेट की मात्रा होती है.

इसके अलावा ये आयोडीन और जिंक जैसे खनिजों का भी सोर्स है जो ब्लड प्रेशर को कम करने में मदद करते हैं.

हाई बीपी की समस्या में गाय के दूध से मलाई को निकाल दें और थोड़ा सा पानी मिलाकर इसका सेवन करें. स्किम्ड या डबल टोंड दूध को डाइट में शामिल करें.

दूध में मौजूद पोटैशियम की मात्रा ब्लड वेसेल्स को हेल्दी रखती है. इससे ब्लड सर्कुलेशन बेहतर होता है और ये ब्लड प्रेशर को भी बैलेंस करने में मदद करता है.

दूध कैल्शियम का रिच सोर्स है और हड्डियों के स्वास्थ्य के लिए फायदेमंद है. ये हृदय की मांसपेशियों को स्वस्थ रखता है और क्लॉटिंग को रोकने में भी मददगार है.